महात्मा गांधी (इंदौर में सन् 1918)

इंदौर शहर बेहद ही सौम्य, शांत और अच्छा शहर है। खासतौर पर मालवा भूमि में आकर मुझे विशेष अनुभूति हुई है। नगरवासियों की अपार आत्मयता, अपनापन और प्रेम देखकर मन भी प्रफुल्लित हो उठा है।

Read More
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com