नव वर्ष तथा तिल चतुर्थी की व्यवस्थाओं के संबंध में बैठक संपन्न

नव वर्ष 2024 तथा तिल चतुर्थी के अवसर पर इंदौर के श्री गणेश खजराना मंदिर में आने वाली श्रद्धालुओं की भीड़ एवं अन्य व्यवस्थाओं के संबंध में मंदिर परिसर में श्री गणेश खजराना प्रबंध समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में कलेक्टर डॉ. इलैया राजा टी., नगर निगम आयुक्त श्रीमती हर्षिका सिंह, पुलिस उपायुक्त श्री अभिषेक आनंद, यातायात पुलिस अधिकारी, मंदिर के पुजारी, प्रबंध समिति के सभी सदस्य तथा अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे। बैठक में बताया गया कि नव वर्ष के अवसर पर 31 दिसंबर 2023 एवं एक जनवरी 2024 को आने वाली श्रद्धालुओं की भीड़ नियंत्रित करने हेतु सभी व्यवस्थाएं जिला प्रशासन एवं प्रबंध समिति द्वारा पूर्ण कर ली गई है। जिसके अंतर्गत साज-सज्जा, विद्युत व्यवस्था, सफाई व्यवस्था, पार्किंग व्यवस्था एवं सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। कलेक्टर डॉ. इलैया राजा टी.ने निर्देश दिए की 31 दिसंबर, 2023 एवं एक जनवरी, 2024 को आने वाले श्रद्धालुओं को सुचारू एवं सरल दर्शन हो सके इसके लिए सभी इंतजामों की पुनः समीक्षा की जाए। उन्होंने कहा कि कंट्रोल रूम के माध्यम से भीड़ की स्थिति पर सतत रूप से मॉनिटरिंग की जाए। उन्होंने कहा कि नगर सुरक्षा, एनसीसी, स्काउट एवं अन्य वॉलिंटियर्स के माध्यम से भीड़ नियंत्रण का कार्य किया जाए। इन सभी वॉलिंटियर्स को सर्टिफिकेट भी वितरित किया जाए।
31 दिसंबर को रात्रि 11 बजे तक खुला रहेगा श्री गणेश खजराना मंदिर का दरबार
प्रबंध समिति के सदस्यों द्वारा सर्व सहमति से निर्णय लिया गया कि पिछले वर्ष के भांति इस वर्ष भी रात्रि 11 बजे श्री गणेश खजराना मंदिर के पट बंद कर दिये जाएंगे। श्रद्धालुजन रात्रि 11 बजे तक श्री गणेश के दर्शन कर सकेंगे।
बदले गए एंट्री एवं एग्जिट मार्ग
श्रद्धालुओं एवं स्थानीय लोगों की सुविधा को दृष्टिगत रखते हुए इस वर्ष मंदिर में दर्शन हेतु एंट्री एवं एग्जिट मार्ग भी बदले गए हैं। बैठक में निर्णय लिया गया कि मंदिर परिसर में प्रवेश के लिए खजराना चौराहा से सर्विस रोड तथा गोयल नगर के मार्ग से आया जा सकेगा तथा एग्जिट के लिए कालिका माता मंदिर होते हुए मार्ग तय किया गया है।
22 जनवरी, 2024 को खजराना मंदिर में आयोजित होगा भव्य उत्सव
श्री गणेश खजराना प्रबंध समिति के सदस्यों द्वारा सर्व सहमति से निर्णय लिया गया कि अयोध्या के श्री राम मंदिर के उद्घाटन के अवसर पर 22 जनवरी को खजराना मंदिर परिसर में भी भव्य उत्सव आयोजित किया जाएगा। इस अवसर पर विशेष रूप से फूलों की सजावट के साथ ही छप्पन भोग लगाया जाएगा। मंदिर को दिवाली की भांति दीपों से सजाया जाएगा। कलेक्टर डॉ. इलैया राजा टी.ने निर्देश दिए कि इस उत्सव में जनभागीदारी सुनिश्चित की जाए। विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम एवं गतिविधियां आयोजित कर इस उत्सव को उत्साह पूर्ण बनाया जाए। इसके लिए उन्होंने उत्सव समिति गठित करने के भी निर्देश दिए।
पिछले वर्षों की तुलना में अधिक भव्य रूप से आयोजित होगी तिल चतुर्थी
कलेक्टर डॉ. इलैया राजा टी.ने निर्देश दिए की पिछले वर्षों की तुलना में इस वर्ष तिल चतुर्थी अधिक भव्य रूप से आयोजित की जाए। संपूर्ण मंदिर परिसर का पेंट कराया जाए। उन्होंने कहा कि इस वर्ष मंदिर की सजावट भी थीम बेस्ड की जाए। उन्होंने कहा कि इस अवसर पर मंदिर में बने नए भवनों का भी लोकार्पण किया जाए। कलेक्टर डॉ. इलैया राजा टी.ने मंदिर के नवीन विवरणिका तैयार करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इसके माध्यम से लोगों तक मंदिर में उपलब्ध कराई जा रही विभिन्न सुविधाएं जैसे पंचकर्म, थैलेसीमिया की जांच, डायलिसिस आदि के बारे में जानकारी दी जा सकेगी। बैठक में बताया गया कि इस वर्ष तिल चतुर्थी महोत्सव 29 जनवरी, 2024 से 31 जनवरी, 2024 तक आयोजित किया जाएगा। इस अवसर पर सवा लाख तिल के लड्डुओं का भोग प्रथम दिवस लगाया जाएगा। नगर निगम आयुक्त श्रीमती हर्षिका सिंह ने निर्देश दिए की मंदिर में होने वाले उत्सवों में लगाई जाने वाली विद्युत साज के लिए इलेक्ट्रिकल सर्टिफिकेट जरूर प्राप्त किया जाए। इसी तरह तिल महोत्सव पर श्रद्धालुओं को वितरित किए जाने वाले भोग प्रसादी का भी फूड सेफ्टी ऑफिसर से परीक्षण कराया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com