हजारों स्कूली बच्चों ने किया एक साथ सूर्य नमस्कार

स्वामी विवेकानंदजी के जन्मदिवस के उपलक्ष्य में युवा दिवस के अवसर पर प्रदेश के अन्य जिलों के साथ-साथ इंदौर जिले में भी सामूहिक सूर्य नमस्कार के कार्यक्रम आयोजित किये गये। इंदौर जिले का मुख्य कार्यक्रम आरएपीटीसी के मैदान पर संपन्न हुआ। जल संसाधन मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट सांवेर में आयोजित सूर्य नमस्कार के कार्यक्रम में तथा संभागायुक्त श्री मालसिंह, कलेक्टर श्री आशीष सिंह और डीआईजी आरएपीटीसी श्री धर्मेन्द्र सिंह भदौरिया आरएपीटीसी इंदौर के कार्यक्रम में शामिल हुए। इन्होंने सैकड़ों स्कूली बच्चों, नवआरक्षकों, शिक्षकों और अन्य नागरिकों के साथ सूर्य नमस्कार किया। इस तरह के कार्यक्रम जिले के अन्य स्कूलों और महाविद्यालयों में भी आयोजित किये गये। सामूहिक सूर्य नमस्कार का कार्यक्रम राज्य शासन द्वारा दिये गये दिशा-निर्देशों के अनुसार किया गया। सामूहिक सूर्य नमस्कार कार्यक्रम में इंदौर जिले के शासकीय और अशासकीय स्कूलों के सैकड़ों विद्यार्थी शामिल हुये। युवा दिवस के अवसर पर शिक्षण संस्थाओं, महाविद्यालयों, ग्राम पंचायत और आश्रम शालाओं में निर्धारित कार्यक्रम अनुसार सूर्य नमस्कार का कार्यक्रम आयोजित किया गया। सूर्य नमस्कार सुबह ठीक 9:30 बजे शुरू हुआ। कार्यक्रम में “वन्दे मातरम्” एवं “जन गण मन” का सामूहिक गायन भी हुआ। इस अवसर पर मध्यप्रदेश गान भी हुआ। युवा दिवस के उपलक्ष्य में मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव द्वारा दिये गये संदेश का प्रसारण भी सुनाया गया। साथ ही स्वामी विवेकानंद जी के शिकागो (अमेरिका) में दिये गये भाषण के अंश भी प्रसारित किये गये। सामूहिक सूर्य नमस्कार कार्यक्रम के रेडियो से सीधे प्रसारण की व्यवस्था की गयी थी। कार्यक्रम में बताया गया कि सूर्य नमस्कार भारतीय योग परम्परा का अभिन्न अंग है। यह विभिन्न आसन, मुद्रा और प्राणायम का वह समन्वय है, जिससे शरीर के सभी अंगों-उपांगों का पूर्ण व्यायाम होता है। आधुनिक युग में हम अपने स्वास्थ्य के प्रति निश्चित ही अधिक सजग हुए हैं तथा इस हेतु विभिन्न उपायों को अपना रहे हैं। इन सभी उपायों में “सूर्य नमस्कार’ ऐसी गतिविधि है, जो हमारे शारीरिक और मानसिक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन करती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com