श्री पार्श्वनाथ प्रभु के जन्म एवं दीक्षा कल्याणक पर विराट रथयात्रा

नवरत्न परिवार के तत्वावधान में जैन समाज के 23वें तीर्थंकर पार्श्वनाथ प्रभु के जन्म एवं दीक्षा कल्याणक प्रसंग पर पार्श्व भक्ति महोत्सव का दिव्य आयोजन रविवार, 7 जनवरी को किया जाएगा। इस दौरान आचार्य नवरत्नसागर सूरीश्वर म.सा. की प्रेरणा एवं युवा हृदय सम्राट आचार्य विश्वरत्नसागर म.सा. आदिठाणा के आशीर्वाद से प.पू. गणिवर्य आनंदचंद्र सागर म.सा., मुनिराज ऋषभचंद्र सागर म.सा. एवं राजेश मुनिजी म.सा., साध्वीवर्या अमितगुणाश्रीजी म.सा. एवं अमीझराश्रीजी म.सा. आदिठाणा एवं आचार्य श्रीविहर्ष सागर म.सा. की पावन निश्रा में सुबह 8.30 बजे से राजबाड़ा से बड़ा गणपति स्थित मोदीजी की नसिया तक विराट रथयात्रा निकाली जाएगी। रथयात्रा में अनेक सुसज्जित अश्वारोही बालक, ऊंटगाड़ी, शहनाई वादक, अनेक झांकियों और नासिक के 50 ढोल एवं अंतरिक्ष में भगवान पार्श्वनाथ की झांकी और उस पर इंद्रों द्वारा अभिषेक के दृश्य आकर्षण के प्रमुख केन्द्र होंगे। नवरत्न परिवार के संरक्षक एवं रथयात्रा के मुख्य संयोजक ललित सी. जैन, मालवा महासंघ के अध्यक्ष दिलसुखराज कटारिया, कांतिलाल बम एवं नवरत्न परिवार के राष्ट्रीय सलाहकार बोर्ड के अध्यक्ष प्रीतेश ओस्तवाल ने बताया कि रविवार, 7 जनवरी को सुबह 8.30 बजे राजबाड़ा स्थित महावीर भवन से बड़ा गणपति स्थित मोदीजी की नसिया तक विराट रथयात्रा निकाली जाएगी। इस रथयात्रा में पुरुष श्वेत कुर्ता-पायजामा एवं जैकेट तथा महिलाएं केशरिया या लाल परिधान में शामिल होंगे। महिलाएं मंगल कलश धारण कर रंगारंग प्रस्तुतियां देते हुए चलेंगी। शहर में यह अद्वितीय उत्सव आठवीं बार हो रहा है। रथयात्रा में शिखरजी, नाकोड़ाजी एवं नागेश्वर तीर्थ की विशाल और मनमोहक झांकियों के अलावा शहर में विराजित साधु-साध्वी भगवतों, मधुर बैंड पार्टी, लुभावने लवाजमे, दीक्षार्थी सलोनी मेहता (बड़नगर) के वर्षीदान का वरघोड़ा भी आकर्षण का मुख्य केन्द्र रहेगा। 300 फीट लंबे जैन ध्वज के साथ रथयात्रा में भगवान का शाही लवाजमा भी साथ चलेगा। अनेक जैन सोशल ग्रुप एवं श्रीसंघों की ओर से रथयात्रा में आकर्षक प्रस्तुतियां दी जाएंगी। विभिन्न तरह के ध्वनि वादक यंत्रों की स्वर लहरियां भी गुंजायमाना रहेंगी। महोत्सव के लिए समग्र जैन समाज को खुला आमंत्रण दिया गया है। आयोजन की दिव्यता को देखते हुए महोत्सव समिति का गठन किया गया है। मोदीजी की नसिया पर आयोजन समिति की बैठक हुई जिसमें रथयात्रा एवं धर्मसभा स्थल के अवलोकन के साथ ही विभिन्न तैयारियों की समीक्षा भी की गई। बैठक में रथयात्रा के संयोजक ललित सी. जैन, दिलसुखराज कटारिया, प्रीतेश जैन, दीपक सुराना, कांतिलाल बम एवं अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे। बैठक में सर्वानुमति से रथयात्रा के कार्यक्रम को अंतिम रूप दे दिया गया। समग्र जैन समाज की ओर से शहर के सभी जैन बंधुओं से रथयात्रा एवं महोत्सव में शामिल होने की अपील की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com