खजराना फ्लाय ओवर का किया निरीक्षण

इन्दौर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री जयपालसिंह चावड़ा द्वारा चल रहे विकास कार्य को गति देने के उद्देश्य से विकास कार्यो का लगातार निरीक्षण का कार्यक्रम निर्धारित किया गया है, जिसके अंतर्गत 6 दिसम्बर को खजराना फ्लाय ओव्हर के चल रहे कार्यो का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालिक अधिकारी श्री आर.पी. अहिरवार भी उपस्थित थे। श्री चावड़ा ने बताया कि खजराना चौराहे के लिंक रोड़ पर आनंद बाजार की ओर से, बंगाली चौराहे की ओर, रोबोट चौराहे की ओर एवं खजराना मंदिर की ओर यातायात उक्त चौराहे से होकर गुजरता है। ट्राफिक की व्यवस्था को व्यवस्थित करने के उद्देश्य से प्राधिकरण द्वारा खजराना चौराहे पर फ्लाय ओव्हर का निर्माण किया जा रहा है, जिसके निर्माण कार्य में अपेक्षित गति आई है, परन्तु गति को ओर बढाये जाने की आवश्यक होता है। आपने बताया कि 500 मीटर लम्बाई में बनने वाले इस ब्रिज को दो भागों में बनाया जा रहा है, जिसके दाहिने भाग का निर्माण अधिक तेजी से किया जा रहा है, बाये भाग का कार्य भी शुरू किया जाकर फाउण्डेशन का कार्य पूरा हो चुका है। दाहिने भाग की ओर गर्डर की लांचिंग एवं गर्डर का पियर पर रखने का कार्य शुरू हो चुका है, जिसमें से 4 गर्डर यथास्थान रखे जा चुके है एवं शेष गर्डर का कार्य पूर्ण हो चुका है एवं 15 दिवस में सभी गर्डर का लांचिंग कर लिये जाने के निर्देश दिये गये है। श्री चावड़ा ने बताया कि यह ब्रिज प्रदेश में संभवतः पहला ब्रिज होगा, जिस पर 45 मीटर स्पान में लोहे के गर्डर का उपयोग किया जा रहा है, पूरे स्पान में बीच में कोई भी पिल्लर नही होगा, जो ट्रेफिक में बाधा बनें। उक्त गर्डर निर्माण स्थल पर आ गया है, जिसको जगह पर रखे जाने का कार्य विधि विधान से किया जावेगा, जिसमें शहर के जनप्रतिनिधि एवं पत्रकारों को आमंत्रित किया जावेगा। आपने कहा कि हमारा लक्ष्य होगा, कि जनवरी-फरवरी माह में एक हिस्से के ट्रेफिक को खोला जा सके, जिससे दिन प्रतिदिन हो रहे, जो जाम का जनजन को सामना करना पड़ता है उससे निजात मिल सकें। निरीक्षण के दौरान क्षेत्र के पार्षद द्वय श्रीमती मुद्रा शास्त्री एवं श्री पुष्पेन्द्र पाटीदार एवं अन्य जन प्रतिनिधि उपस्थित थे। उल्लेखनीय है कि प्रारम्भ में प्राधिकरण के अधीक्षण यंत्री श्री अनिल जोशी ने सम्पूर्ण फ्लाय ओव्हर के संबंध में तकनीकी जानकारी एवं प्रगति के संबंध में आवश्यक जानकारी प्रस्तुत की। निरीक्षण में प्राधिकरण के, निर्माण एजेन्सी एवं पीएमसी के इंजीनियर्स भी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com