इंदौर में अगले दो माह में 25 हजार सोलर पैनले लगेंगी

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के संकल्पों को पूर्ण करने के लिये इंदौर को शीघ्र ही सोलर सिटी और सोलर डिस्ट्रिक्ट बनाने हेतु तेजी से कार्य किये जा रहे हैं। इंदौर जिले में अगले दो माह में घरों, बहुमंजिला इमारतों, व्यवसायिक/औद्योगिक संस्थानों, शासकीय भवनों आदि में 25 हजार सोलर पैनले लगेंगी। अधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं कि इस लक्ष्य को पूर्ण करने के लिये हर संभव प्रयास किये जाये। निर्देश दिये गये हैं कि इंदौर को सोलर ऊर्जा उत्पादन के क्षेत्र में प्रदेश ही नहीं बल्कि देश में अव्वल बनाया जाये। यह जानकारी यहां सांसद श्री शंकर लालवानी का अध्यक्षता में संपन्न हुई जिला स्तरीय विकास समन्वय और निगरानी समिति की बैठक में दी गई। बैठक में जल संसाधन मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट, महापौर श्री पुष्यमित्र भार्गव, विधायक श्री मधु वर्मा, कलेक्टर श्री आशीष सिंह, नगर निगम आयुक्त श्रीमती हर्षिका सिंह, डीसीपी ट्राफिक श्री मनीष अग्रवाल तथा जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सिद्धार्थ जैन सहित अन्य अधिकारी और जनप्रतिनिधि गण मौजूद थे। बैठक में प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना के लिये जा रही तैयारियों की समीक्षा की गई। साथ ही बैठक में प्रधानमंत्री विकसित भारत संकल्प यात्रा, प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम एवं सांसद आदर्श ग्राम पंचायत योजना, सुगम्य भारत योजना आदि के तहत किये गये कार्यो की भी समीक्षा की गई। बैठक में इंदौर को सोलर सिटी और सोलर डिस्ट्रिक्ट के रूप में विकसित करने के लिये किये जा रहे कार्यों की प्रगति की विशेष रूप से समीक्षा हुई। इस अवसर पर बताया गया कि अभी तक 5 हजार 937 भवनों पर सोलर पेनल लग चुके हैं। इनसे लगभग 41 मेगावाट बिजली मिल रही है। बताया गया कि जिले में अगले दो महिने में 25 हजार भवनों पर सोलर पैनल लगाने का लक्ष्य रखा गया है। इससे लगभग 75 मेगावाट बिजली मिलेगी। बैठक में अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि वे सभी शासकीय भवनों पर अनिवार्य रूप से सोलर पेनल लगाने की कार्यवाही करें। बैठक में जल संसाधन मंत्री श्री सिलावट और सांसद श्री लालवानी ने निर्देश दिये कि सभी स्कूलों, आंगनवाड़ी भवनों, हॉस्टल आदि पर इस दिशा में विशेष ध्यान दिया जाये। महापौर श्री पुष्यमित्र भार्गव ने इंदौर को सोलर सिटी बनाये जाने के लिये किये जा रहे प्रयासों की जानकारी दी। बैठक में सांसद आदर्श ग्राम योजना की समीक्षा के दौरान सांसद श्री लालवानी ने कहा कि इस योजना में चयनित गुलावट को लोटस वेली और प्रमुख पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने के लिये किये जा रहे कार्यो को गति प्रदान की जाये। बैठक में बताया कि जिले के ऐसे गांव जिनमें 50 प्रतिशत से अधिक आबादी अनुसूचित जाति वर्ग की है उनका चयन प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम के लिये किया गया है। ऐसे गांवों की संख्या 50 से अधिक है। निर्देश दिये गये कि इन गांवों में विकास संबंधी कार्ययोजना बनाने के लिये संबंधित सरपंचों और अधिकारियों की बैठक पृथक से आयोजित की जाये। बैठक में विकसित भारत संकल्प यात्रा की प्रगति की भी समीक्षा की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com